Main menu

बाॅडी मास इंडेक्स

बाॅडी मास इंडेक्स

 

बी.एम.आई. (बाॅडी मास इंडेक्स) एक व्यस्क व्यक्ति के वजन और ऊँचाई के आधार पर किया जाता है।

बी.एम.आई. एक सरल विधि है, जिसके द्वारा शरीर के वजन और उसकी ऊँचाई का आकलन किया जाता है। यदि वजन आदर्श सीमा से अधिक या कम है तो, आपके स्वास्थ्य के जोखिम को बढ़ा सकता है उच्च बी.एम.आई. ह्दय रोग, उच्च रक्तचाप, टाइप-2 मधुमेह, पिताशय की पथरी, श्वास संबंधी और कुछ तरह के कैंसर के रूप में बीमारियों के जोखिम को बढ़ाता है।

आप अपना बी.एम.आई. अपनी ऊँचाई और वजन एक साधारण बी.एम.आई. कैलकुलेटर में प्रवेश जान सकते है। 

 

BMI Categories

 

table bmi

 

डब्ल्यू.एच.ओ. के अनुसार 18.5 का बी.एम.आई ”कम वजन“ का संकेत है। यह कुपोषण, खाने के विकार या अन्य स्वास्थ्य समस्याओं के कारण हो सकता है। 25 से अधिक बी.एम.आई अधिक वजन का संकेत है एवं 30 से उपर ”मोटापे“ से ग्रस्त माना जाता है। अधिक या कम वजन आंशिक रूप से शरीर में वसा की मात्रा की वजह से होती हैं, परन्तु अन्य कारक जैसे मांसलता भी इसमें योगदान देते है। बी.एम.आई. पुरूषों और महिलाओं के लिये स्वास्थ्य जोखिम का एक अति उपयोगी सूचकांक है, यद्यपि इसकी कुछ सीमाये भी है।

कुछ विशिष्ट अथवा जातीय आबादियों में (भारतीय शामिल) बी.एम.आई. मोटापे से संबंधित जोखिम के लिए सबसे अच्छा संकेत नहीं माना जाता है। कुछ पतले दिखने वाले व्यक्तियों में जिनमें पेट के आसपास जीम वसा होती है, उनमें जोखिम अधिक हो सकता है।

 

 

इसलिए अपने बी.एम.आई. की उचित व्याख्या के लिये चिकित्सक से परामर्श करना बुद्धिमानी है।

FacebookTwitterYouTube